Santali Story घा़रदी जावाँय

घा़रदी जावाँय Santhali Story

Santali Story घा़रदी जावाँय – झेंट बोंगा रेयाक् सा़रदी सितुङ। सिञ चाँदो आजाक् सेंगेल तारास धा़रती ताला रेय तारसे आकाक्-आ। होय-हिसीद् हों हायाम-हायाम गे आ़यका़वोक् कना। ओना तेगे पालेन दारे ना़ड़ी कोहों का़ँहीस जाला ते लियोर-कोदोर हों हा़पिद् आकाना।

तिकीन बेड़ा जोतो को एरोक् बा़द खोन सियुक् राड़ा काते बा़द सुर कोरेनाक् दारे बुटा़ कोरे को उमुल जिरा़व आकाना। चारेज् साकड़ा रेयाक बा़रू बा़यहा़ड़ रे कारान दो एकला गेय सियुक् काना। बार आतरे मेनाक् गे ते सियुक् राड़ा रेय बिलोम गोद् आकाना। दाक् तेताङ, दाका रेंगेज् सेरमा सितुङ देया काते तेहेञ रेगे ओना माराङ बा़रू-बा़यहा़ड़ रे हुड़ुय एर पुरा़व काक्-आ मेनतेय मोन-सुबा़ आकाक्-आ। बा़द रिन पुरा़व बाड़ा तेगे बोहोक् चेतान सिञ चाँदो हों नासेय लाड़ाव ञोक् एन गेया।

SANTALI LOVE SHAYARI

सियुक् राड़ा काते कारान दो डाँगरा किन कादाम झारना सेन ए लागा गोद् काद् किना आर आज् दो नाहेल, आराण गोक् काते ओड़ाक् मोहडाय ताड़ाम केक्-आ। कुलही पिंडा़ रे नाहेल आराण टेंडार काते बोहोक् रेयाक् गामछा दा़हड़ी राड़ा काते इवीर-इवीर कुलही पिंडा़ रेय दुड़ुब् गोद् लेन रे, कुलही मेला खोन आज् बा़हुवाक् मिद् चाचारहाद् आड़ाङ आजाक् लुतुर किन रे तारको काते रिदा़य भितरी होंय दाकाल-दाकाल गोद् काद् ताया।

कुलही मेला खोन गे आ़जिज् एरा का़रमी दो बिबली उड़िज् लेका फाद-फादाव काते गेंदराव आड़ाङ तेय मेन लाक्-आ, ‘‘लाँगा जोम आ़गु केद् मेया, आड़ाङ रे मिद् ठोप हों दाक् बा़लुक्-आ हेज् तोराम एदेयेन दो, दाक् माड़ाङ लु आ़गु लेम।’’ आँजोम केद् आम से बाङ-आ? लुतुर बाङखान इञ होटोर फा़रचा़ काक् तामा।

जिवी खा़ँदरी हुरूम डिगीर सेंगेल ते माड़ाक्-माड़ाक् लो लेकान काथा आँजोम काते कारान दो चेद् हों बाङ ए मेन रूवा़ड़ लाक्-आ। सेरमा सा़ँगिञ सेन कोयोक् काते खा़ली होय निसा़स गेय आड़ाक् लाक्-आ। बा़य-बा़य ते बेरेद् काते ओड़ाक् राचा खोन बा़लटिञ बाबेर साब् काते, टिञ भा़रया़ गोक् काते ताला कुलही पाका कुञ ते दाक् लुलुय मोहडायेन दाक् लुलु तुलूज् सेतेञ झारना दाक् लेका आजाक् मेद् किन खोन हिडिर-हिडिर मेद् दाक् जोहा तुड़ुम काते कुञ दाक् रे जोर मेसायेना।

सिंगा़ड़ बेड़ा एसकार गे आजाक् जा़पिद् ओड़ाक् रे गितिज् काते कारान दो उयहा़र दोरया रे उडुल डुबुल ए पायरा जोङ काना। उयहा़र एदाय – तेहेञ मिद् चाँदो खोन आज् ला़गिद् ते नोवा ओड़ाक् रेयाक् होय हिसीद् हों बा़ड़िज् आकाना। नोक्-ओय तेहेञ सिम राक् ते आ़जिज् हानहार आयो गे तो तोगोज् डाटा कातेय एगेर लाक्-आ। इञ दो आम सालाक् दुञ भागाव चाबा आकाना, आदो चेद्? आमाक् जियोन रेयाक् ठिका़ञ गोक् आकाक्-आ। नितोक् हों साडाङ आकान गे दो।

Santali Story घा़रदी जावाँय – कारानाक् मोने जिवी दो नोवा खा़तिर बा़ड़ती सालाक् बोकोगोक् कान ताया, आज् बा़हु का़रमीयाक् रिला़माला झारना दाक् लेकान मोन रे तिस कोरे हिंसा़ रेयाक् पाप ओमोन पोटकोज् काते पोहा दारे रेयाक् डोग हों सागेन चाराह गोद् आकाना?

आज् आयोवाक् सिम राक् ते एगेर आँजोम काते हों का़रमी दे माना बारोन काथा मिद् उडिज् हों बाङ ए मेन रूवा़ड़ लाक्-आ, होय तोपालेन का़रमी दो आ़जिज् छाता दारे कारानाक् दिसा़ ञेल ते रा़सका़य आटकारेद् ताँहेद्? ओड़ाक् ते दाका जोजोम बोलोन हों ती जाँगा गोहोड़ोक् कान लेकाय आटकार एदा।

आर बासनाय चेदाक्? एगेर आँजोम ला़गिद्? जाहाँ ओड़ाक् आजाक् जियोन रेयाक् एयाय सेरमा खोन ए जोतोन जोगाव आ़गुयेदा, ओना ओड़ाक् रे नितोक् आजाक् ला़कती बा़नुक्-आ। डा़ँगरी मेरोम खोन एहोब् काते, सिम सुकरी जोतोन जोगाव, बा़द-खेत रेयाक् का़मी-का़सनी हों तो आज् गेय ञेल सामटाव एदा। एनते रेहों दाक् दाका ला़गिद् काथा ओकोय हों बाको कुली गेलायेया।

हाना-न्हावा काथा को उयहा़र-उयहा़र कारोन दो तिन रेचोय जा़पिद् गोद् कादा बाङ ए ठिका़ हाना। आचका गे आज् बा़हु का़रमी दो कारान ए जा़पिद् आकाद् ओड़ाक् ते बोलो काते कारान ए ठेलाव बेरेद् केदेया। ‘‘ए… गो! नासेनाक् सानती ञोक् ते जा़पिद् होचोवा़ञ मेसे।’’ नेहोर सालाक् कारान दो आ़जिज् जिवी जुरिय मेता हादे ताँहेद्। चेद् एम गेंदराक् काना? दाका जोम गे तुञ होहोवाम काना। जोगोज खानेम हिजुक् मे, जोतो होड़ को जोम केक्-आ।

तोगोज् डाटा काते का़रमी दो नोवा काथाय रोड़ रूवा़ड़ लाक्-आ। ओड़़ाक् रिन जोतो होड़ गे दाका को जोम जिरा़व आकाद् काथा आँजोम काते कारानाक् बेरेल मायाम रे सेंगेल दा़ड़ केद् लेकाय बुझा़व केक्-आ। चेद्? चेद् इञाक् नुकु सालाक् मिद् ते दुड़ुब् काते दाका जोम रेयाक् आ़यदा़र हों बा़नुक् तिञा? हें नुकु दोको ओड़ाक् मा़लिक काना आर इञ, इञ दो नोवा ओड़ाक रे घा़रदी जावाँय लेकाञ हेज् मेसा आकाना।

आ़ँयठा़ बा़टी रे इता़द् दाकाय सोहोर गिडीयाम रेहों रेंगेज् जाला तेम जोम काक् गेया। नोवा ओड़ाक् रेगे तेहेञ खोन मिद् चाँदो लाहा इञाक् कोदोर हुयुक् ताँहेन। इञ बा़हु आजाक् सोहाग दुला़ड़ ते माराङ बुरू लेकाय सेबा जोतोनिञ ताँहेद्, सादेर रिनिज् मिद्टा़ङ इरील कोड़ा एँगात आपात खोन हों बा़ड़तीय मानाव बाताविञ ताँहेद्। उन दो इञाक् जोतोवाक् ताहें काना ओत-हासा, टाका-पुयसा़ आर नित, नित मा इञ एखेन ती।

झुनी साहान सेंगेल लेका। कारानाक् मोने जिवी दुरदुरा़वेन ताया। नित गे ओड़ाक् सेन बोलो काते हानहार आयो आर इरिल कोड़ा साँव मिद्-बार काथाय रोपोड़ किना, मेनखान आजाक् रा़गी कोड़ाम ताला रे कुकुरबुद् कातेय हों बुद एद् कादा। गितिज् काते गे कारान ए मेन केदा ‘‘बाङ रेंगेज् इञ काना, तेहेञ दो बा़ञ जोमा।’’ का़रमी दो मोचा हानते कातेय मेन रूवा़ड़ केक्-आ ‘‘उंह जोम केद् खान, आम दो ओकोय उखड़ा़वाम काना?’’

कारानाक् हुरूम डिगीर रा़गी मेद् दाक् रे बोदोल एना। नुय गे इञ बा़हु जाँहाय खा़तिर इञाक् जोतोवाक् इञ आद् आकादा। ओत-हासा, ओड़ाक्-दुवा़र, आयो-बाबा। नित ओकाञ चालाक्-आ? चेद् इञ चिका़या? हानहार आयो हेज् कातेय मेन केक्-आ ‘‘दाका जोम मे, चेद् एम पोकपोको आकाना। आम सालाक् होपोन एराञाक् बापला हुय आकाना मेनते आमाक् जियोन भुर रेयाक् ठिका़ञ गोक् आकादा।’’ नाचार आड़ाङ ते कारान ए मेन रूवा़ड़ केदा ‘‘हें यो!

आ़लिञाक् भुल काना जे आ़लिञ नोङका लिञ उयहा़र जोङ कान ताँहेद्। आ़लिञ ठेन नितोक् चेद् मेनाक्-आ, जे आ़लिञाक् जियोन रेयाक् ठिका़ बिन गोगा।’’ हानहार तेद् बिटी होपोन एरात का़ड़मी गोहोड़ कातेय मेन केदा ‘‘देला ना आम हों जा़पिद् जोङ मे, नुय ओकारेमा दो आलोम होरहो काया।’’ इना़ मेन काते टुकी लेका मोचा फुला़व काते राचा सेन फिद-फिद ए बोलो चालाव एना।

एँगाताक् काथा आँजोम काते का़रमीयाक् जाँगा लातार खोन धा़रती साहा गोद् एन लेकाय आटकार केदा। बानार मेद् खोन मेद् दाक् लिंगीन झारना दाक् लेका जोहा तुड़ुम काते लिंगी आणगोयेन ताया। आलता पा़ड़ सा़ड़ी ते बाँदेयाकान आञचार ते मेद् दाक् जोजोद् तुलुज् छाता दारे कारानाक् गितिज् पारकोम रे दुड़ुब् काते कुसुद्-कुसुद् राक्-राक् ए छुटा़व एना। चेदाक् बाय रागा? राग गेयाय, गोमहेड़ उमुल छाता दारेयाक् दुक हारकेत ञेल काते।

जाहाँय तुलुज् ओड़ाक् दुवा़र ला़गिद् ए कुकमु आकाद्-आ, जाहाँय सालाक् बाङ ए रोपोड़ लेनखान लाज् दाका बाङ हासाक् ताया, जाँहाय जिवी खोन हों बा़ड़ती ए सिबील आया, उनि तेहेञ आजाक् आपा-बारे ओड़ाक् रे, आज् सामाङ रे रेंगेज् तेताङ एगेर रोहेद् रेयाक् कोचलोन ए साहाव आ़गुयेदा। का़रमीयाक् दुक दो नोवा गे कारान जुदी आपा-बारे ओड़ाक् रे ताहेंन बाङ ए बोड़हे लेखान सुलुक निरा़य तेकिन ताहें कोक्-आ।

इना़ सुमुङ दो बाङ आज् हों दुक सासेत एमोक् रे बोड़हे तेय जापाक् लाठा आकाना। तेहेञ मिद् चाँदो हुयुक् काना आज् जावाँय दुक-सुक रे गोड़ो बाय एम आकावादेया। दाक् तेताङ दाका रेंगेज् चेद् हों बाङ ए कुली आकादेया। बोरचोङ एँगात आर बोकोत तेदाक् ताड़ तेगेय सुहुक आ़गुयेद् ताँहेद्। मिद्टा़ङ बा़हु कुड़ीयिज् आज् जावाँय गे जोतो चिली। तिरी-पुरूसाक् सोङसार जाला रे सुघुड़ ते ताड़ाम सानाम खान छाता दारेयाक् ती सापाब् खोन दो आलोम पुचुजोक्-आ।

आपनार जावाँय दुक एम दो सिना़म माराङ बोरो ओनहेड़ा गे हुयुक्-आ। नोवा दो ठिका़ काते हों का़रमी दो चेद् हों बाङ ए चिका़ दाड़े आकावादा। होय ते पालेन का़रमी दो आपा बारे ओड़ाय मेनाय खा़तिर आजाक् पाड़ाक् मोचा एँगात तेदाक् काथा रे बाङ ए धाड़ाप रूवा़ड़ दाड़ेयाक् काना।

गितिज् पारकोम खोन उसकु पुसकु बेरेद् काते कारान दो का़रमीयाक् बानार दा़बी साब् कातेय कुली केदेया ‘‘चेदाक् एम रागेदा गो़? आयोय होहोवाद् मे दो दु चालाक् मे। इञ ओका रेमा दो चेदाक् एम होरहो आकादिञा?’’

Santali Story घा़रदी जावाँय – कारानाक् टाटवास काथा आँजोम काते का़रमीयाक् मेद् दाक् दो ता़हुँ गे बा़ड़तीयेन ताया। छाता दारे कोले रे गुँगुद् काते होरी बिकोले राक् होमोर एदा। मोचा खोन चेद् काथा हों बाङ ओडोकोक् कान ताया।

कारान गे जिवी जुरीयाक् मेद् दाक् जोजोद् तुलुज् ए मेन केदा ‘‘हें गो! उयहा़र एदा़ञ आपे ओड़ाक् रे इञ दो आदो बा़ञ ताहें दाड़ेयाक्-आ। होय तो पालेन इञाक् मिद् पुयसा़ कामाव बा़नुक्-आ, ओनाते आयो फोकोट ते जोमाक् ए इमा़ञ कान लेकाय बुझा़व एदा। आदो तिना़क् दिन रेंगेज् तिञ ताँहेना? मोनेयेदा़ञ ओड़ाक् तिञ रूवा़ड़ चालाक्-आ। ओड़ाक् रे आयो साँवते बोकोञ नारान मेनाक् किना होय तो पालेन उनकिन ठाँव किन इमा़ञ गेया।

कारानाक् काथा आँजोम काते का़रमीयाक् मोने जिवी रे नासे रा़सका़ सेतेञाद् देया। तेहेञ एयाय चाँदो रे कारानाक् मोचा खोन ओड़ाक् रूवा़ड़ काथाय आँजोम केदा, नोङकाय आटकार केदा जा़निज् आ़किन तिरी-पुरूसाक् आगाम दो निरा़य आर मारसाल रे ताँहेना। कारानाक् बोहोक् उब् हातवा-हातवा का़रमी दो तेताङ आड़ाङ तेय मेन लाक्-आ ‘‘हें गो! इञ दो आदो बाम इदि तोरायिञा?’’

दुड़ुब् खोन बेरेद् काते कारान ए लाभ केदा – इञाक् नावा ता़पिञ कान हुडिञ घारोंज रे आमाक् ला़कती मेनाक्-आ। तालगा-तानागोक् कान घारोंज तिंगु केटेज् रे जुदि आमेम गोड़ोवा़ञा, एनखान इञाक् कोपाड़ बाङ एपड़ेया मेन तिञ मोनेया। आ़डि दिन तायोम कारान आर का़रमी मोने भुला़व जिवी राड़ेज् काथा आ़किन ताला रे चेपेज् हा़टिञ काते जा़पिद् साड़ा-सा़तिञ बेड़ा रे तिरी-पुरूस सा़गा़य किन तोनोल आ़रू लाक्-आ।

Santali Story घा़रदी जावाँय – ताला ञिदा़ बाराबा़री। गोटा पाड़ा साड़ासा़तिञ गे आ़यका़वोक् काना। कारान आर का़रमी दो गिदरा़ लेटका हेबे काते बाड़गे दुवा़र ते ओडोक काते ओड़ाक् मोहडा किन ताड़ाम आकादा। कुना़मी चाँदो तेरदेज् मारसाल रे एँगेल-इपिल छाड़ा चिली हों बाको ञेलोक् काना। थारे थार को राकाब् आकान इपिल जा़निज् को एनेज् जोङ काना।

एनेज् जोङ कान एँगेल इपिल ञेल काते तिन रेचो गिदरा़ मोने रेय सेटेर आकाना बाङ ए थित आकावाना। उयहा़र एदाय आज् हों एँगेल इपिल लेका गे आरहों गाते को साँव ए खिलडु एनेज् जोङ ताँहेन। मोन रे उयहा़र हिजुक् काना जानाम आ़तु ओड़ाक्। जाहाँ रे आज् रिन जोटाव मेनाक् को ताया, तेहेञ उनकु साँव दोहड़ा तेय ञापाम रूवा़ड़ा। मोन रे उयहा़र हेज् आदेया जानाम आयोवाक् दुला़ड़। उनियाक् मुठा़न रे तिना़क् दाया आर माया हेनाक् ताया।

कारान नितोक् नोङकाय आटकार एदा जा़निज् आज् आयो दारामे माड़ाङ हिजुक् काना। कारानाक् मेद् किन मेद् दाक् ते पेड़े पेड़े येन ताया। आज् आज् तेय मेन जोङ काना, यो! आम दो चेदाक् एम हिड़िञ सा़री किदिञा? ञेल मेसे आ़मिज् माराङ बा़बुवाक् दोसा नितोक् ओका लेका हुयुक् काना। आमाक् सिखना़त पाड़हाव इञ आँजोम लेखान इञाक् नोङकान दोसा दो बाङ हुय कोक्-आ। ओना ला़गिद् ते इञेम इका़ का़ञा यो!

ताड़ाम ताड़ाम ते सिम राक् गोद् एना। जानाम आ़तु रेनाक् कुलही धुड़ी रे कारान आर का़रमी दो पा़वड़ी किन गिडी आकादा एयाय सेरमा तायोम। सा़री गे जानाम आ़तु रेयाक् होय हिसीद् दो मोन जिवीय रावाल गोदा। ओड़ाक् रेयाक् छाटका दुवा़र रे नासे किन तिंगु ञोक् एना। होय तो पालेन नोवाँ ओड़ाक् दुसा़व काते किन साहा सा़ँगिञ लेना ओनाते ओड़ाक् बोलोन हों किन ओबोरसाक् काना।

Santali Story घा़रदी जावाँय – बोतोर सातलाक् ओड़ाक् राचा किन आदेर बोलोयेना। माराङ पिंडा़ रे चावलेय गुक्-गुम कान आयो उनकिन ञेल तेय मेन गोद् केदा, माराङ बा़बु आ़बिन बिन हेज् एना। मा नोते ओड़ाक् सेन गे बोलोन बिन। आ़बिन बाङ ते नोवा ओड़ाक् ञिर बा़गी आकावाद् ओड़ाक् लेका बुझा़क् कान ताँहेद।

जानाम आयोवाक् नोवा काथा आँजोम काते आ़किनाक् लाँगा होड़मो आज् आज् ते पाँडगार एन लेका किन आ़यका़व केदा। ओड़ाक् रेयाक् राचा रे पा़वड़ी ञुर एन तायोम कारान नोङका रा़सका़य आटकार केदा जा़निज् आजाक् जियोन रे चेद् हों ओघोटोन बाङ हुय आकाना। ओना ओड़ाक् जाहाँ मिद् दिन ए बा़गीयाद् ताँहेद्, जानाम आयो जाँहाय बाङ ए कुसीयाय ताँहेन, उनकिन तेहेञ इञ बा़पुड़िज् आ़किनाक् कोड़ाम कोले रे गुँगुद् ला़गिद् सापड़ाव रे मेनाक्। लाजाव रेयाक् हामाल भा़रया़ ते तेन आकान कारान आर का़रमीयाक् बोहोक् तेहेञ कुटुबुर रे मेनाक्-आ।

:- Denesh Kumar Mandi

[ratings]

Leave a Comment

Your email address will not be published.